होनहार छात्र ने बिना Toeffel पास किये हंगरी की यूनिवर्सिटी में पाया 100 प्रतिशत स्कॉलरशिप के साथ एडमिशन

भिण्ड से परानिधेश भारद्वाज की रिपोर्ट

Bhind MP: भिण्ड के मेधावी छात्र अनिकेत चौहान को हंगरी की डेब्रेसेन यूनिवर्सिटी में 100 प्रतिशत स्कॉलरशिप के साथ प्रवेश मिला है। यह प्रवेश छात्र अनिकेत की विलक्षणता और तीक्ष्ण बुद्धिमता के कारण मिला है। सबसे बड़ी बात है कि यह सफलता अनिकेत को बिना टोएफल टेस्ट के ही मिली है। अनिकेत की सफलता विदेशों में पढ़ाई के लिए सपना देखने वाले गरीब छात्रों को उम्मीद की रोशनी दिखाने वाली है।

कहते हैं प्रतिभा संसाधनों की मोहताज नहीं होती। ऐसा ही साबित करके दिखाया है भिण्ड जैसे छोटे से शहर के रहने वाले छात्र अनिकेत ने हंगरी की यूनिवर्सिटी में शत प्रतिशत स्कॉलरशिप के साथ एडमिशन पाकर। दरअसल छात्र अनिकेत चौहान ने युनिवर्सटी को एक ईमेल किया जिसमें उन्होंने लिखा था कि मैं भारत देश के बहुत छोटे शहर भिण्ड में निवास करता हूँ। यहां पर टोएफल टेस्ट की पढ़ाई की सुविधा भी नहीं है। लेकिन वह उनकी यूनिवर्सिटी में पढ़ना चाहते हैं। अनिकेत के ईमेल को देखकर यूनिवर्सिटी ने एक पैनल बनाकर छात्र अनिकेत का ऑनलाइन इन्टरव्यू लिया। हंगरी की इस यूनीवर्सिटी के अधिकारियों एवं प्रोफेसर द्वारा लिए गए इंटरव्यू में अनिकेत ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया। जिसके बाद अनिकेत को युनिवर्सटी ने 100 प्रतिशत स्कोलरशिप पर प्रवेश दे दिया। विदेश में पढ़ने जाने वाले छात्रों की यूजीसी की सूची में नाम आने के बाद अनिकेत चौहान बिना टोएफल टेस्ट दिए इस तरह प्रवेश पाने वाला शायद देश का पहला छात्र है। अनिकेत ने अपनी पूरी पढ़ाई भिंड शहर में स्थित विद्यावती पब्लिक सेंट्रल स्कूल से ही की। यहां तक कि उन्होंने कंप्यूटर साइंस विषय में भी पढ़ाई इसी महाविद्यालय से की। अनिकेत को शतप्रतिशत स्कॉलरशिप के साथ प्रवेश मिलने पर न केवल परिजनों, गुरुजनों बल्कि जिले भर में खुशी की लहर दौड़ गई है।

बाइट – अनिकेत चौहान, छात्र

बाइट – देवेंद्र सिंह चौहान, छात्र अनिकेत के दादा

बाइट – अमित दुबे – अनिकेत के स्कूल संचालक, प्राचार्य विद्यावती पब्लिक सेंट्रल स्कूल।