आओ दिल की बात करें से सुधरेगी मेंटल हेल्थ, राज्य आनंद संस्थान करेगा ऑनलाईन आयोजन

भोपाल: कोरोना के संकटकाल में लोगो के भीतर डर बढ़ता जा रहा है इसका असर लोगों के मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य दोनों पर पड़ रहा है। इसको देखते हुए अब राज्य आनंद संस्थान आओ दिल की बात करे नामक ऑनलाईन कार्यक्रम के जरिए लोगो की मेंटल हेल्थ सुधारने का काम किया जाएगा।

अध्यात्म विभाग के अंतर्गत राज्य आनंद संस्थान आओ दिल की बात करे कार्यक्रम के तहत एक ऑनलाईन तीन दिवसीय कार्यक्रम शुरु करेगा। इस कार्यक्रम के तहत श्वास हेतु योग कराया जाएगा। इसके अलावा रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ाने के लिए योग कराया जाएगा। इसके अलावा सकारात्मक उर्जा से परिपूर्ण जीवन हेतु ध्यान कराया जाएगा। इसी आयोजन में अपने सुख दुख एवं कला को लोगों से साझा करने के लिए मंच भी दिया जाएगा। इस ऑनलाईन कार्यक्रम में दो घंटे का एक सत्र होगा और एक कार्यक्रम में चालीस लोगों को शामिल किया जाएगा। इस कार्यक्रम का मुख्य मकसद कोरोना संक्रमण के द्वारा उपजे भय, तनाव और अवसाद को दूर करना तथा लोगो की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाना है।

तीन दिनों तक चलने वाले इस कार्यक्रम में हर दिन दो घंटे का सत्र रहता है। इसमें डॉक्टर, योगा टीचर और मोटीवेशनल स्पीकर कार्यक्रम में शामिल लोगों से बात करते है। उन्हें कई तरह की जानकारियां देते है। हर सत्र के लिए प्रथम आओ प्रथम पाओ के आधार पर ऑनलाईन पंजीयन के आधार पर प्रवेश दिया जाता है। ऑनलाईन पंजीयन राज्य आनंद संस्थान की वेबसाइट पर जाकर कराया जा सकता है। यह कार्यक्रम प्रत्येक सोमवार से शुक्रवार तक संचालित किया जाएगा।

कार्यक्रम में बेहतर तरीके से श्वास लेने, ऑक्सीजन लेवल बढ़ाने वाली योग क्रियाएं करने की प्रक्रिया बताई जाती है। इसके अलावा रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के किस तरह के योग, प्रााणायाम, आसन किए जाए यह बताया जाता है। किस तरह की वस्तुएं खाना है और क्या नहीं खाना है। यह भी बताया जाता है। सकारात्मक उर्जा से परिपूर्ण जीवन के लिए कौन से ध्यान किए जाए यह भी बताया जाता है। कार्यक्रम में मौजूद लोग भी अपने सुख-दुख एक दूसरे से साझा कर सकते है। आपस में बात कर सकते है।